Food

कैसे शुरू करें जैविक (ऑर्गेनिक फूड) खाद्य व्यापार (बिजनेस)?

जैविक(ऑर्गेनिक) खाद्य

आजकल लोगों मै स्वस्थ रहने की जागरूकता को देख कर हर दुकानों मै ऑर्गेनिक फूड पदार्थ मिल रहे है। क्योंकि उसके उत्पादन मै किसी भी तरह की कीटनाशक दवाओं एवं केमिकल्स का उपयोग नहीं  होता है इसलिए जैविक खाद्य पदार्थ स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है।

भारतीय जैविक(ऑर्गेनिक) खाध बाजार की बढ़ोतरी के साथ यह अंदाज़ा लगाया जा रहा है, कि अगले ३ सालो मै भारतीय जैविक (ऑर्गेनिक) खाद्य बाजार २५ प्रतिशत की तेजी से बढ़ेगा।

अगर, आप जैविक(ऑर्गेनिक) खाद्य व्यापार के बारे मै सोच रहे है, तो नीचे दी गई कुछ बातों को जरूर ध्यान मै रखे:

१. लाइसेंस और परमिट:

 किसी भी तरह के व्यापार को शुरू करने से पहले आपको उसे कानूनी मान्यता दिलवाना बहुत आवश्यक है.

ऐसे मै आपको एफएसएसएआई (FSSAI)के लाइसेंस के लिए अप्लाई करें

आपके ऑर्गेनिक खाद्य दुकान (स्टोर )को आधिकारिक तौर पर ऑर्गेनिक व्यापार ट्रेड एसोसिएशन द्वारा जैविक(ऑर्गेनिक) के रूप मै प्रमाणित किया जाना चाहिए

अपने ऑर्गेनिक फूड दुकान( स्टोर )के नाम से बैंक खाता खुलवाना न भूले

अपने छोटे व्यवसाय के लिए मुख्य ऑपरेटिंग संरचना मै से किसी एक का  चयन करें, जैसे निगम( कॉर्पोरेशन), सीमित देयता भागीदारी( लिमिटेड लाइबिलिटी पार्टनरशिप) आदि।

नोध: भारत सरकार के द्वारा आपके  बेचे जा रहे सभी खाद्य पदार्थों को ट्रेडमार्क के माध्यम से जांच किया जाता है, और उसके बाद ही आपके द्वारा बनाये गये खाद्य पदार्थों को ग्राहकों  तक पहुंचाया जाता है अन्यथा नहीं. 

२. स्थल/ चयन :

व्यापार का स्थान  एक अहम भूमिका निभाता है। आपको इसी जगह चुन नी चाहिए, जहा ग्राहकों की सुरक्षा, सार्वजनिक परिवहन और प्रयाप्त पार्किंग हो।

उस स्थल  पर आपके कितने  प्रतियोगि है उसके बारे मै भी ध्यान रखे।  और आप ऐसी स्थल को  चुने  जहा लोगों का आवक-जावक अधिक हो।

३. कर्मचारी का नियुक्तिकरण:

  व्यापार को स्थापित करने के बाद उसे प्रबंध(मैनेज) करने के लिए आपको कर्मचारियों कि आव्यशकता पड़ सकती है जैसे – बिक्री विभाग से लेके कैशियर तक। अगर आप चाहते हो तो बेशक आप आपका

ऑर्गेनिक फार्मिंग सरकार द्वारा बनाई गई योजनाएं

आधिकारिक काम परदे के पीछे से कर सकते है, लेकिन आपको ग्राहकों को देखने के लिए मदद की आवश्यकता जरूर पड़ेगी।

४. ग्राहक अनुभव

कहा जाता है ना “पहली छाप, आखिरी धारणा है”

 ग्राहकों का अच्छा अनुभव ही, उनको वापस आपकी दुकान मै  खींच लाता है। और यह तभी संभव है, जब आपके कर्मचारियों को जैविक खाद्य एवं प्राकृतिक खाद्य  के बारे में पूरी जानकारी हो। उसके लिए आपको इन्हे समय से प्रशिक्षण देना जरूरी है, आपकी विपणन रणनीति का यह एक जरूरी हिस्सा है।

५. अग्रिम निवेश:

   उची स्टार्ट- अप कीमतों के लिए तैयार रहे। क्युकी ऑर्गेनिक खाद्य (फूड) –  नॉन ऑर्गेनिक खाद्य ( फूड) के सामने काफी महंगे होते है। पहली बार दुकान को भण्डार (स्टोर) से भरना जितना आपने सोचा है, उससे कहीं ज़्यादा महंगी प्रक्रिया है|

६. बिक्री की कीमत तय करे:

  नॉन ऑर्गेनिक खाद्य की तुलना मै ऑर्गेनिक खाद्य की कीमत अधिक होती है, ऐसे मै आम बात है कि आप ऑर्गेनिक खाद्य की कीमत ज्यादा रखेंगे। मगर यह ध्यान रखे कि आप ऑर्गेनिक पदार्थो की कीमत इतनी भी ज्यादा  न रखे कि ग्राहक किसी और से यही  पदार्थ कम कीमत में खरीदे।

अपने आसपास के ऑर्गेनिक दुकानों की कीमत की तुलना करे और उसी आधार पर अपने पदार्थो की कीमत रखे।

अगर आपके आसपास कोई ऑर्गेनिक दुकान  ना हो तो अन्य स्थल पर जाकर, जहा ऑर्गेनिक दुकान है वह जाके देखे कि वह किस कीमत पर पदार्थ बेच रहे है और कितना मुनाफा हो रहा है।

नोंध: जब तक आप आपके पदार्थो की कीमत सही ढंग से नहीं लगाएंगे तब तक आपका ग्राहक आधार रूप नहीं बढ़ पाएगा।

७. ऑफलाइन विज्ञापन करे:

    आपको इस बारे मै विचार करना होगा कि, आप किस तरह ग्राहकों को आपकी दुकान के बारे में जानकारी दे सकते है।

इसलिए आपको सबसे पहले यह देखना है, की जो ग्राहक ऑर्गेनिक सामान खरीदने की रुचि रखता हो उस पे ज्यादा ध्यान दे  और ऑर्गेनिक सामान किस क्षेत्र से ज्यादा खरीदा जारहा है।

ऑर्गेनिक खेती कैसे शुरू करें?

जगह जगह पर आपकी दुकान का बैनर, पम्पलेट लगाए और समाचार पत्र द्वारा ग्राहकों तक पौहचाए। और अगर संभव हो तो भावी ग्राहकों  को कूपन दे कर आकर्षित करे। आपके स्टोर पर आने वाले ग्राहकों को ऑर्गेनिक और नॉन ऑर्गेनिक के बारे मै जानकारी दे जिससे से लोग प्रभावित होकर अपने आसपास लोगो को भी सूचित करेंगे।

८. ऑनलाइन विज्ञापन करे:

   आज कल की बढ़ती शिक्षित जनसंख्या ज्यादातर इंटरनेट जैसे माध्यम के द्वारा जानकारी प्रपात करती है। इसको ध्यान मै रख कर:

     – सबसे पहले आप आपके ऑर्गेनिक दुकान की वेबसाइट बनाए जिसमें वह सारी जानकारी दे जो आपको और आपके कर्मचारियों को पता हो।

    – दूसरा गूगल मेप पर आप आपकी दुकान का लोकेशन बताए।

    – बढ़ती ऑनलाइन उपभोक्ता आबादी तक पहुंचने के लिए सोशल मीडिया को भी उपयोग मै ले।

९. अपनी ऑर्गेनिक दुकान को अच्छी तरह प्रबंधित(मैनेज) करे:

व्यापार हर कोई शुरू कर सकता है, लेकिन उसे प्रबंध कैसे करना चाहिए वह बड़ा सवाल खड़ा होता है, इसलिए नीचे दिए गए बातो को ध्यान मै रखे:

सामान किस कीमत पर ग्राहकों को बेचा जा रहा है और हम किस प्रकार उसे बड़ी आसानी से ट्रैक करे सकते है उसका ध्यान रखे

बढ़ती मंहगाई के साथ साथ चोरियों  के वारदात भी काफी सुनने को मिलते है इसलिए अपने स्टोर मै सीसीटीवी कैमरा लगाए और अच्छी सिक्योरिटी  का प्रबंध करे।

आज कल लोगो के लिए उनका स्वास्थ्य प्राथमिक है तो यह ध्यान मै रख कर आप जो भी पदार्थ बेच रहे हो वह अच्छी गुणवत्ता वाला हो।

ऑर्गेनिक फूड उन कुछ क्षेणियो मै से एक है जो उच्च

स्तर , उच्च मार्जिन अवसर ब्रैकेट मै आता है। जैस जैसे स्वस्थ खाद्य पदार्थों और प्राकृतिक पदार्थो की तरफ लोगो की  जागरूकता  बढ़ रही है वैसे वैसे लोग ऑर्गेनिक पदार्थो को खरीदने के लिए तैयार है। अतः उपर दिए गए सभी बिंदाओ मै यही दर्शाया गया है, की आप किस प्रकार आपका ऑर्गेनिक व्यापार व बिजनेस शुरू कर सकते है और उसके लिए आपको   किन किन बातों को ध्यान मै रखना है।

धन्यवाद!

जैविक खेती क्या होती है और इसके कितने प्रकार होते है?

Related posts
Food

What is the preference for ordering cakes in Jagraon?

Are you people are interested to celebrate with closed one’s anniversary with grand and…
Read more
Food

Healthy Diet to Boost your Immune System

Fears around Covid are rising – and there is by all accounts little we’re encouraged to do…
Read more
Food

10 Mistakes Everyone Makes When Brewing Coffee

If you are already fully committed to this drink, these tips may not be spectacular, but if you want…
Read more
Newsletter
Healthy Crops
Latest Organic Farming and Food healthy recipes in your inbox

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *